शिलाजीत के फायदे एवं नुकसान। Benefits of Shilajit in Hindi?

शिलाजीत के फायदे (Benefits of Shilajit in Hindi)- हिमालय की चट्टानों में पाया जाता है।यह मई जून की झुलसा देने वाली गर्मी में पहाड़ों के पसीने के रूप में निकलता है। यह डार्क ब्राउन कलर का एक चिपचिपा पदार्थ है। शिलाजीत आयुर्वेद में उपयोग की जाने वाली एक महत्त्वपूर्ण औषधि है। यह औषधि बल को बढ़ाने वाली, ओज वर्धक ,दुर्बलता का नाश करने वाली मानी जाती है। आयुर्वेद के अधिकांश नुस्खों में शिलाजीत का उपयोग किया जाता है। इसका स्वाद कड़वा, कसेला होता है। 

शिलाजीत के फायदे
Photo by Skylar Kang on Pexels.com

शिलाजीत औषधि क्या है? (Benefits of Shilajit in Hindi)

शिलाजीत एक बहुत ही प्रभावी,चमत्कारी और सुरक्षित औषधि है जो आपके संपूर्ण स्वस्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालता है। यह उन रोगियों के लिए बहुत लाभदायक है जो अल्ज़ाइमर (भूलने की बीमारी ), एनीमिया (आयरन की कमी से होने वाली खून की कमी ), पुरुष बांझपन या पुरुष प्रजनन क्षमता, टेस्टोस्टेरॉन में कमी या हृदय की किसी बीमारी से ग्रसित  हैं। यह शीघ्रस्खलन रोकता है और कामोत्तेजना बढ़ता है।

शिलाजीत का सेवन कुछ मानसिक विकारों जैसे – मानसिक थकावट, तनाव, चिंता आदि को कम करने के लिए भी किया जाता है। यह हमारे नर्वस सिस्टम को एक्टिव रखता है और प्रतिरक्षा प्रणाली और हॉर्मोन्स का संतुलन बनाये रखता है। महिलाओं में यह माहवारी की अनियमितता को दुरुस्त रखने में मददगार है।

पुरुषों के लिए शिलाजीत का सेवन करना काफी फायदेमंद होता है। आयुर्वेद में शिलाजीत को एक दिव्य-औषधि माना गया है।   इसके नियमित सेवन करने से पुरुषों के कई तरह के गुप्त रोगों को दूर करने में मदद मिलती है. नपुंसकता, धातु की कमी, सेक्स पावर की कमी जैसी समस्या दूर हो जाती है।  इसके सेवन से सेक्स पावर बढ़ने के साथ साथ शरीर को ओर भी कई फायदे होते हैं।  एक नज़र डालते हैं उन फायदों पर।

शिलाजीत को खाने के फायदे (Benefits of Shilajit in Hindi)

  • शिलाजीत के अंदर पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन समाहित होता है. इसके नियमित सेवन करने से शरीर में ऊर्जा बनी रहती है।  अगर हम ऊर्जावान  रहते हैं तो अपने सारे कामों को अच्छे ढंग से कर पाते  हैं और दिन भी अच्छा जाता है।
  •  दिल की बीमारियों से बचाव के लिए शिलाजीत में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो बैड कोलेस्ट्रॉल को काम करते हैं ओर ह्रदय को स्वस्थ रखने में मददगार होते हैं।   
  •  जिन लोगों को उच्च रक्तचाप होता है उनके लिए शिलाजीत एक अत्यंत लाभकारी औषधि है। यह हमारे शरीर के ब्लड सर्क्युलेशन को अच्छा रखता है। प्रॉपर ब्लड फ्लो होने से हाई ब्लड प्रेशर का खतरा काफी कम हो जाता है।
  • मनुष्य के शरीर में तनाव को बढ़ाने के लिए ज़िम्मेदार हार्मोन कार्टिसोल शिलाजीत के सेवन से नियंत्रित होता है। 
  • जिन व्यक्तियों को हर समय कमज़ोरी महसूस होती रहती है या उनका शरीर पतला है तो नियमित रूप से शिलाजीत का सेवन करने से शरीर की कमजोरी दूर हो जाती है और शरीर हष्ट- पुष्ट बनता है।
  • शिलाजीत में कैल्शियम की भरपूर मात्रा पायी जाती है और कैल्शियम हमारी हड्डियों, दांतो, मसूड़ों ओर नाखूनो आदि को मजबूत बनाने के साथ साथ मांसपेशियों को भी मज़बूत बनाता है।  बढ़ती उम्र के लिए कैल्शियम ओर भी ज़रूरी हो जाता है  शिलाजीत का सेवन संपूर्ण शरीर के लिए वरदान है।
  • यह ग्लूकोज़ के स्तर को भी कम करने में सहायक है।
  • यह नींद न आने की समस्या को भी काफी हद तक खत्म कर देता है।
  • यह इम्युनिटी लेवल को बढ़ाकर शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है।
  • इसमें ऐसे विटामिन्स, मिनरल्स होते हैं जो वर्कआउट रिकवरी देते हैं।  
Benefits of Shilajit in Hindi

शिलाजीत के सेवन की विधि

1. एक चम्मच शहद व एक चम्मच त्रिफला चूर्ण को दो रत्ती शिलाजीत के साथ मिलाकर खाने से डॉयबिटीज़ पूरी तरह ठीक हो जाता है।

२. शीघ्रपतन की समस्या के लिए 20 gm शिलाजीत और बंग भस्म ,10 gm लौह भस्म ,6 gm अभ्रक भस्म मिलाकर लेने से बहुत लाभ होता है। 

शिलाजीत लेने के कुछ साइड-इफ़ेक्ट    

1. शिलाजीत की तासीर बहुत गरम होती है इसका सेवन करने से शरीर में गर्मी बढ़ जाती है। तापमान संतुलित न होने से व्यक्ति का मूड बिगड़ा रहता है, सर -दर्द की शिकायत रहती है, पेट भारी -भारी महसूस होने लगता है। 

2. शिलाजीत के अत्यधिक सेवन से हथेलियों और पैरों के तलवों से गर्मी निकलने लगती है ऐसा लगता है की आग निकल रही हो। 

3.  इसके सेवन से कभी कभी गर्मी बढ़ जाने की वजह से त्वचा पर एलर्जी हो जाती है फोड़े-फुंसी, रैशेज और इरिटेशन हो जाती है।  जब भी ऐसा दिखे इसका सेवन बंद कर दें।

4. शिलाजीत के सेवन से उल्टी सकती हो सकती है, बेचैनी महसूस करना या फिर हार्ट बीट भी बढ़ सकती है।

5. शिलाजीत के अत्यधिक सेवन से उस व्यक्ति को बार -बार यूरिन पास करने की इच्छा होती है।  

महिलाओं के लिए शिलाजीत के फायदे (Benefits of Shilajit in Hindi)

पुरुषों के साथ-साथ महिलाओं के लिए भी शिलाजीत लाभकारी होता है क्योंकि इससे बाँझपन की समस्या दूर होने का प्रतिशत काफी ज़्यादा है। जिन महिलाओं को डॉयबिटीज (डॉयबिटीज डाइट चार्ट) या हाई ब्लड प्रेशर है उनके लिए भी यह उपयोगी है। साथ ही साथ इससे इम्युनिटी अच्छी होती है और शरीर में स्फूर्ति भी आती है।

  • जिन महिलाओं को महावारी से सम्बंधित दिक्क़ते हैं जैसे कि माहवारी नियमित नहीं है या माहवारी आने में दिक्कत होती है तो उन्हें शिलाजीत के सेवन से फायदा होता है क्योंकि इसके सेवन से मासिक चक्र नियमित होता हैं।
  • शिलाजीत के सेवन से बांझपन दूर होता है जिन महिलाओं को गर्भ धारण करने में समस्या हो रही है, तो इसके सेवन से महिलायें आसानी से गर्भ धारण कर सकती हैं।
  • जिन महिलाओं को इंटरकोर्स करने की इच्छा नहीं होती, उन्हें शिलाजीत का सेवन करने से फायदा मिलता है,और यौन इच्छा बढ़ती है।
  • जिन महिलाओं को हर समय कमज़ोरी रहती है, थकान रहती है और शारीरिक शक्ति और ऊर्जा की कमी महसूस होती है उन्हें शिलाजीत शरीर में फुर्ती प्रदान कराता है।
  • जिन महिलाओं को थोड़े थोड़े समय पर कुछ न कुछ बीमारियां होती रहती हैं इसका मतलब उनमे रोगों से लड़ने की क्षमता कम हो गयी है इसलिए उन्हें शिलाजीत का सेवन करना चाहिए इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।  
  • जो महिलाएं ज़्यादा लम्बे समय तक जवान दिखना चाहती हैं वो अगर नियमित रूप से इसका सेवन करें तो शरीर में झुर्रियां नहीं पड़ती। यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है और इसमें 85 तरह के मिनरल्स पाए जाते है इसलिए यह त्वचा का भी विशेष रक्षक होता है। 
  • गठिया रोग होने का एक कारण यूरिक एसिड का बढ़ना भी होता है, शिलाजीत में ऐसे मिनरल्स होते हैं जो यूरिक एसिड को बैलेंस रखने में हेल्प करते हैं इसलिए गठिया से पीड़ित महिलाओं को इसका सेवन ज़रूर करना चाहिए।
  • जिन महिलाओं को डिप्रेशन रहता है उनके लिए भी शिलाजीत बहुत अच्छा रहता है इससे मस्तिष्क को पोषण मिलता है और मेमोरी पावर भी बढ़ती है।
  • जिन महिलाओं को एनीमिया मतलब खून की कमी और अनिद्रा की समस्या है इसके सेवन से ये सभी समस्याएं दूर हो जाती हैं।
  • शिलाजीत में कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकने की पावर होती है। जिन महिलाओं को कैंसर है उन्हें शिलाजीत का सेवन करना चाहिए। इसका सेवन करने से काफी आराम पड़ता है और यह कैंसर से लड़ने की भी शक्ति देता है।

महिलाओं के लिए सावधानियाँ-

1. अति हर चीज़ की बुरी होती है अगर शरीर में आयरन ज़्यादा हो जाए तो वह भी हानिकारक है और शिलाजीत में भरपूर आयरन पाया जाता है इसलिए इसका ज़्यादा प्रयोग हानिकारक है।

2.प्रेगनेंसी के दौरान शिलाजीत किसी चिकित्सक की देख -रेख में ही लेना चाहिए।

असली शिलाजीत की पहचान

  • किसी भी औषधि को खाने का फायदा तभी है जब वह असली हो और शिलाजीत जैसी औषधि के लिए यह और भी ज़रूरी हो जाता है।
  • शिलाजीत की पहचान करने के लिए एक चम्मच पर शिलाजीत का एक टुकड़ा लेकर उसे आग में लेकर जाइये। अगर वह टुकड़ा फूलना शुरू हो जाए तो समझिये वह असली है और अगर पिघलकर नीचे  गिरने लगे तो वह नकली है।
  • दूसरा तरीका है कि शिलाजीत का एक छोटा टुकड़ा आग में डालने पर अगर धुआँ उठने लगे तो समझ जाइये कि यह शिलाजीत नकली है। और धुँआ न उठे तो  शिलाजीत असली होता है।
  • तीसरा तरीका यह है कि शिलाजीत अगर गौमूत्र के जैसी गंध दे ,और दिखने में भी हल्के काले रंग का हो तो शिलाजीत असली होता है।
  • अगला तरीका यह है कि इसका एक छोटा सा टुकड़ा पानी में डाले और अगर यह तार-तार होकर पानी में बैठ गया तो असली होता है।  
  • आप एक ओर तरीके से भी असली शिलाजीत की पहचान कर सकते हैं असली शिलाजीत पानी में बहुत जल्दी घुल जाता है और बर्तन की सतह पर कोई गंदगी नहीं बैठती और अगर नकली होता है तो अपशिष्ट पदार्थ नीचे बैठ जाते हैं।

शिलाजीत कैप्सूल खाने के फायदे

अगर आपको शिलाजीत न मिले या फिर शिलाजीत का डायरेक्टली सेवन न कर पा रहे हो तो शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल भी ले सकते हैं। यह किसी भी आयुर्वेदिक या सामान्य मेडिकल स्टोर पर आसानी से उपलब्ध होते हैं।     

शिलाजीत एक ऐसी आयुर्वेदिक औषधि है जो कि शरीर में ताकत और जीवन शक्ति को बनाये रखने में हेल्प करती है। शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल में शिलाजीत, गोल्ड, केसर और कुछ जड़ी-बूटियां जैसे अश्वगंधा, कौंच बीज और धौली मूसली जिसे सफेद मुसली भी कहा जाता है यह सब मिला होता है। इसमें उपस्थित  शिलाजीत कमजोर शरीर के लिए एक टॉनिक का काम करता है और मज़बूती प्रदान करता है।

इसमें मौजूद गोल्ड (स्वर्ण) इम्युनिटी सिस्टम को मज़बूत करता है।इसमें मिली हुई केसर शरीर को न्यूट्रिशन देती है और शारीरिक थकान को भी दूर करती है।इसमें उपस्थित मूसली सेक्स क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ गठिया, यूटीआई, डायबिटीज जैसी बीमारियों को दूर करने में भी उपयोगी है।

शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल को लेने का तरीका

 शिलाजीत गोल्ड के दिन में दो  कैप्सूल दो बार दूध से ले या आयुर्वेद चिकित्सक के परामर्श लें। और एक ज़रूरी बात अगर आप किसी और पद्धति में किसी रोग का इलाज करवा रहे हैं तो अपने डॉक्टर को इससे अवगत ज़रूर कराएं।

Tags: शिलाजीत के फायदे, शिलाजीत को खाने के फायदे, शिलाजीत के फायदे हिन्दी मे, शिलाजीत हिन्दी मे, शिलाजीत की पहचान, असली शिलाजीत के फायदे, Benefits of Shilajit in Hindi, Health Benefits of Shilajit in Hindi, Medicinal Benefits of Shilajit in Hindi.

Read More:

पिस्ता के फायदे एवं नुकसान- पिस्ता को डाइट में शामिल करने के फायदे

तुलसी के फायदे: तुलसी के पौधे को क्यों लगाना चाहिए

रोग प्रतिरोधक शक्ति को कैसे बढ़ाएं? रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने के तरीके

विटामिन सी की गोली के फायदे एवं अन्य विटामिंस के बारे मे उचित जानकारी

Leave a Reply