Law of Attraction in Hindi

Law of Attraction in Hindi-आकर्षण का नियम का सिद्धांत व सकारात्मक सोच

आकर्षण का सिद्धांत (Law of Attraction in Hindi), प्रकृति द्वारा बनाए गए नियमों मे से एक है। आकर्षण का सिद्धांत एक वैचारिक तथ्य है जहां ये साबित होता है की आप जो भी चाहते या फिर करना चाहते है वो प्रकृति को देना ही होता है।

इसमे कर्म के 12 नियम भी कार्य करते है, जिसमे बताया गया है की आप जो भी universe से मांगते है उसे universe देने के लिए बाध्य है। मगर या कुछ शर्ते है जिन्हे फॉलो करके ही आप अपने आप आपको साबित कर सकते है की आप इसके लायक है या नहीं। कर्म क्या है? अगर इसको जान लेंगे तो आप आकर्षण का सिद्धांत भी समझ लेंगे। क्योंकि कर्म ही प्रधान है, ओर आपकी सोच से कर्म बनता है, इनको एक दूसरे से अलग नहीं किया जा सकता है।

Law of Attraction in Hindi
Photo by kayode fashola on Pexels.com

आकर्षण का सिद्धांत (Law of Attraction in Hindi)

 
आकर्षण का सिद्धांत (Law of Attraction in Hindi) एक लॉ है जिसे प्रकृति द्वारा बनाया गया है, इस ला के अनुसार आप ही कर्ता है ओर कर्म भी आप ही है। जो भी चीज बड़ी तीव्रता के साथ सोची जाती है वो अपने साथ उन पाज़िटिव कणों को भी आकर्षित करती है जिनसे वो मिल कर बनी है। इससे होता है ये है की आप की सोच ओर जिसे आप प्राप्त करने चाहते उनके बीच मे जो frequencies होती है वो आपस मे मिल जाती है, जिसकी वजह से वो चीज आपकी ओर आकर्षित होने लगती है।

यह समझना बहुत आसान है, और आप वास्तव में खुद को एक बेहतर व्यक्ति बनाने के लिए law of attraction का उपयोग कर सकते हैं। इस नियम के अनुसार कर्म के नियम को भी समझा जा सकता है। कर्म क्या है? कर्म हमारे द्वारा किया गया कार्य एवं एक ऊर्जा का स्त्रोत है, जिसमे हमारी ही इच्छाओ के अनुसार फल मिलता है।

हमारे शरीर छोटे छोटे कणों से मिलकर बना होता है, जिनमे अलग अलग प्रकार की एनर्जी होती है, जिसे हम पाज़िटिव एवं नेगटिव के नाम से जानते है। विचारों की प्रवर्ती हमारे इस ऊर्जा के स्त्रोत को नियतांत्रित करती है, क्योंकि विचारों की प्रवर्ती भी एक प्रकार की एनर्जी होती है। और उस एनर्जी से हमारे कार्य नियंत्रित होते है। अगर आपके विचार पाज़िटिव है तो वो पाज़िटिव चीजों को अपनी ओर आकर्षित करेंगे, अगर नेगटिव है तो नेगटिव चीजों को आकर्षित करेंगे।

जब हमारे विचार एक पाज़िटिव एनर्जी को लेकर चलते है तो हमारे शरीर मे पाज़िटिव वातावरण बन जाता है, ओर उस वातावरण मे हमें सिर्फ पाज़िटिव ही मिलती है। तो सोच का आधार आपकी एनर्जी है। जैसे सोच आपके ब्रेन को नियंत्रित करती है उसी प्रकार से ये आपके जीवन को भी चलती है।

अगर कुछ चाहते हो तो आप अपनी सोच को बादलों जिससे आपके जीवन की गति बदल जाएगी।

आकर्षण का सिद्धांत कैसे काम करता है?

आपको विश्वास होना चाहिए कि आप खुश रहेंगे। यह वह जगह है जहां दूसरा कदम आता है। आपको विश्वास होना चाहिए कि आप इस स्थिति या परिणाम को आकर्षित करने में सक्षम होंगे। यह विश्वास करना कि आप परिणाम ला सकते हैं, आपके जीवन में बहुत अधिक ध्यान और ऊर्जा लाएगा। अगला कदम यह विश्वास करना है कि ये चीजें घटित होंगी। आपको विश्वास होना चाहिए कि ब्रह्मांड संतुलित है और चीजें संतुलित होंगी। यह कानून में तीसरा कदम लाता है। बाहरी दुनिया में इसे लागू करने से पहले अपने भीतर संतुलन लाना होगा। इस नियम के अनुसार सकारात्मक विचारो की शक्ति बहुत है।

एक बार जब आप संतुलित हो जाते हैं और कानून आपके लिए काम करता है, तो यह आकर्षण का सिद्धांत का उपयोग करने का समय है। इसके लिए बस कुछ सकारात्मक सोच और सफल होने की इच्छा की जरूरत होती है। अगर आप ऐसी जगह हैं जहां आपको लगता है कि आपको अपने जीवन में बदलाव करने की जरूरत है, तो आपको विश्वास होना चाहिए कि वे होंगे।

अगर आपको सफल होना है तो बदलाव जरूरी है और बदलाव जरूरी है। यहां तक ​​​​कि जब आप सोचते हैं कि कुछ भी बदलने वाला नहीं है, तो परिवर्तन लाने के लिए आकर्षण के सिद्धांत का उपयोग करना संभव है। यह सब कार्रवाई करने और यह विश्वास करने के बारे में है कि चीजें आपके लिए काम करेंगी। यहां कोई चमत्कार नहीं हैं। आपको बस अपनी क्षमताओं और अपनी प्रतिभा पर विश्वास करना है और इससे पहले कि आप इसे जानते हैं, आपको वह दिया गया है जिसकी आप तलाश कर रहे थे।

How to Utilize Law of Attraction?

जब यह law of attraction की बात आती है, तो दो तरीके हैं जो लोग इसका उपयोग करेंगे। एक सकारात्मक सोच के उपयोग के माध्यम से है। ऐसा करने से, आप अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव को आकर्षित करेंगे।

दूसरा तरीका जो लोग आकर्षण के उपयोग के माध्यम से कानून के आकर्षण का उपयोग करते हैं। विज़ुअलाइज़ेशन का उपयोग करके, आप अपने जीवन में उन चीजों के बारे में सकारात्मक सोच रख पाएंगे जो आपके साथ होने जा रही हैं।

ब्रेन मे दो प्रकार के conscious level होते है। unconscious और conscious। दोनो ही का अलग अलग रोल है, एक आपकी फिज़िकल एवं सोचने समझने की शक्ति को तय करता है और दूसरा आपको ये बताता है की आपको अब आगे क्या करना है। दोनो का ही रोल बहुत इम्पॉर्टन्ट होता है। जब भी हम कुछ करने का सोचते है, तो ये विचार या तो किसी को देखकर आता है या फिर हमने कही से सुना हुआ होता है। अब इसमे मे आपका ब्रेन लाजिकल थिंकिंग से सोचता है, विचार करता है तब जाकर आपके ब्रेन मे उस विचार को जगह मिलती है, यदि विचार की intensity बहुत ज्यादा है तो वो विचार sub-conscious ब्रेन मे चला जाता है। ओर वहाँ से ही शुरुआत होती है आपके आकर्षण के सिद्धांत की।

Imagination

यह आपको चीजों को प्राप्त करने के लिए law of attraction का उपयोग करने में सक्षम करेगा ताकि आप दुनिया पर सकारात्मक प्रभाव डालें।

अब, law of attraction कैसे काम करता है? मूल रूप से, जब आप कुछ चीजों के बारे में सोचते हैं जो आप अपने जीवन में चाहते हैं, तो आपके मन में सकारात्मक विचार और चित्र होंगे।

Affirmation of the Imagination

ये चित्र आपके जीवन में वास्तविक और वास्तविक बनने में सक्षम होंगे, जब तक कि वे आपके चाहने और इच्छा पर आधारित हों। यह मुख्य कारणों में से एक है कि इतने सारे लोग क्यों मानते हैं कि law of attraction एक सफलता है, क्योंकि इसने उन्हें अपना जीवन एक तरह से जीने में सक्षम किया है जो वे चाहते हैं।

बहुत सारे लोग हैं, जो आकर्षण के कानून का उपयोग उन चीजों को लाने के लिए करते हैं जो वे हमेशा अपने जीवन में चाहते हैं।

Change is Necessary

एक कारण है कि इतने सारे लोग law of attraction को पसंद नहीं करते हैं क्योंकि वे बदलाव पसंद नहीं करते हैं। हालाँकि, यह वास्तव में एक बहुत अच्छी बात है। यदि आप अपने जीवन में सकारात्मक चीजों के बारे में सोच सकते हैं, तो आपमें सकारात्मक बदलाव लाने की क्षमता होगी।

जब आप अपने जीवन में सकारात्मक चीजों के बारे में सोचते हैं, तो आप अपने लिए कानून का आकर्षण बना पाएंगे। और अपने पक्ष में अपने जीवन में बदलाव लाने के लिए इसका उपयोग करें जो आप चाहते हैं।

अंत में, यह है कि law of attraction वास्तव में कैसे काम करता है। सबसे महत्वपूर्ण बात जो आपको करने की ज़रूरत है, वह यह याद रखना है कि आकर्षण का नियम कुछ ऐसा नहीं है जिसे आप बस चालू और बंद कर सकते हैं।

यह काम नहीं करेगा यदि आप हर समय एक चीज या दूसरे के बारे में सोचते हैं। आपको अपने जीवन में सकारात्मक चीजों के बारे में सोचना होगा और अपने विचारों को सच करना होगा।

Negative Thoughts and Law of Attraction

जब मन में नकारात्मक विचार मौजूद होते हैं, तो वे खुद को अवचेतन मन में संलग्न करते हैं जहां वे शारीरिक रूप से खुद को प्रकट करते हैं। नकारात्मक विचारों वाले व्यक्ति को स्पष्ट रूप से सोचने में परेशानी होगी और वह आत्मविश्वास की कमी से भी पीड़ित हो सकता है।

कुछ जो स्वयं के प्रति प्रतिकूल रवैया रखते हैं वे अक्सर किसी की मदद लेने में असमर्थ हो जाते हैं।

Positive Thoughts in Law of Attraction

दूसरी ओर एक सकारात्मक दृष्टिकोण वाला व्यक्ति सफल होगा और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करेगा। वह अपने जीवन में एक ऐसा वातावरण बनाने में सक्षम होगा जो सकारात्मक बदलाव की सुविधा देगा। आकर्षण का नियम वह है जो ऐसे व्यक्ति को सफल होने में सक्षम बनाता है।

नकारात्मक सोच इंसान के लिए अच्छा नहीं है क्योंकि यह उसके शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। एक बार जब नकारात्मक विचार मन में होते हैं, तो सकारात्मक रूप से सोचना मुश्किल हो जाता है क्योंकि नकारात्मक सोच व्यक्ति को विकास के अगले स्तर तक तोड़ने के लिए और अधिक कठिन बना देगा।

सकारात्मक विचार मन को सकारात्मक सोचने में मदद करते हैं और यह व्यक्ति को अधिक सकारात्मक बनने में सक्षम बनाता है। सफलता पाने के लिए सकारात्मक सोच जरूरी है। यह जीवन में सफलता के प्रमुख कारणों में से एक है।

Law of Attraction in Hindi – हिन्दी मोटिवेशनल विडिओ

Watch this video of law of attraction in Hindi to know more about this universal law.

Law of Attraction in Hindi

Why Positivity is Necessary?

ऐसे लोग हैं जो नकारात्मक सोचते हैं और उनकी नकारात्मक सोच भी है लेकिन वे सकारात्मक सोच का अभ्यास नहीं करते हैं।

वे आमतौर पर अन्य लोगों को दोषी मानते हैं और दूसरों की मदद स्वीकार नहीं करते हैं। उनके आसपास हो रही चीजों के प्रति भी उनका नकारात्मक रवैया हो सकता है।

वे चमत्कारों में विश्वास नहीं करते हैं और ईश्वर में विश्वास नहीं करते हैं। उनका रवैया उनके जीवन को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है और प्रभावित करता है कि वे दुनिया को कैसे देखते हैं।

Power of Positive Thoughts in Law of Attraction

सकारात्मक सोच अपने आप में विश्वास करने और अपने मन की शक्ति में विश्वास करने के बारे में है।

यह सब आपके आसपास हो रही चीजों को बिना किसी नकारात्मकता के स्वीकार करने और फिर यह विश्वास करने के बारे में है कि आप उन्हें जीवन में सफलता में बदल सकते हैं।

आकर्षण का नियम आपको अपने जीवन के सभी पहलुओं में सफलता प्राप्त करने में मदद करता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप अमीर हैं या गरीब; आपका दृष्टिकोण आपको अपना लक्ष्य प्राप्त करने में मदद करेगा। यह आपको खुशी और सफलता प्राप्त करने में मदद करता है।

सकारात्मक सोच आपको सफलता दिलाएगी क्योंकि यह आपको एक मजबूत व्यक्ति बनाती है। यह आपको आत्म-सम्मान विकसित करने में मदद करता है। यह आपको अपना दृष्टिकोण बदलने में भी मदद करता है।

सकारात्मक सोच आपको व्यवसाय में सफलता प्राप्त करने में मदद करती है क्योंकि आप लोगों को अपनी ओर आकर्षित करेंगे।

सकारात्मक सोच रखने से आप अपने करियर में सफलता को आकर्षित करेंगे। आप सकारात्मक लोगों को आकर्षित करेंगे जो आपके प्रयासों में आपका समर्थन करेंगे।

सकारात्मक सोच आपको जीवन में सफलता प्राप्त करने में मदद करेगी क्योंकि यह आपके लिए सही लोगों को आकर्षित करती है और आपको अपने प्रयासों में आवश्यक मदद देती है। यह आपको उन कौशल और ज्ञान भी देगा, जिन्हें आपको अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने की आवश्यकता है।

Conclusion

आकर्षण का कानून एक सार्वभौमिक कानून है और यह सभी लोगों के दिमाग में काम करता है। यह कुछ ऐसा है जो हर किसी को पता होना चाहिए कि क्या वह जीवन में सफलता प्राप्त करना चाहता है।

सकारात्मक सोच आपको जीवन में मनचाहे परिणाम लाएगी। आप इसे जितनी बार चाहें उपयोग कर सकते हैं और आप अपने जीवन में खुश रहेंगे।

Tags: Law of Attraction in Hindi, Law of Attraction, Law of karma, आकर्षण का कानून

11 thoughts on “Law of Attraction in Hindi-आकर्षण का नियम का सिद्धांत व सकारात्मक सोच

Leave a Reply